क्लासमेट से मस्ती

Share this story

(Classmate Se Masti)

मेरा नाम अभिषेक सिंह है, मैं बी.कॉम कर रहा हूँ, उम्र बीस साल है लेकिन देखने में 25 का लगता हूँ। मेरा कद 6’2″ है, देखने में स्मार्ट हूँ। मैं दिल्ली में कॉल सेण्टर में जॉब भी करता हूँ और कभी दिल्ली तो कभी इलाहाबाद रहता हूँ, आजकल मैं इलाहाबाद में हूँ।

मेरी जिन्दगी में बहुत से लड़कियाँ आई और मैंने बहुतों को चोदा है, सब चुदते हुए एक ही बात बोलती है कि अभी, तुमने मुझे जन्नत में पहुँचा दिया….

मेरा लंड लगभग 8″ लम्बा है।

अब मैं कहानी पर आता हूँ…

इसी बीच क्लास में एक नई लड़की ने प्रवेश लिया, उसका नाम अंजलि था। उस दिन भी मैं रोज की तरह क्लास में गया और अपनी जगह पर बैठ गया। कुछ देर बाद अंजलि मेरे बगल आ कर बैठी, फिर हमारी बात होने लगी। शुरू में मुझे अच्छा नहीं लग रहा था क्यूंकि रोज मेरे बगल तनु बैठती थी और आज वो नहीं आई थी लेकिन अंजलि मुझसे बहुत लगाव रख रही थी और अंजलि ने मेरा मोबाइल नम्बर ले लिया और अपना दे दिया।

उसी दिन शाम को अंजलि का मैसेज आया, उसमें नीचे लिखा था ‘आई मिस यू’

मैं तुरंत समझ गया कि लड़की चुदना चाहती है। फिर मैंने उसे चोदने की योजना बनाई और रात में फोन करके आई लव यू बोल दिया और अगले दिन एक पार्क में मिलने को कहा। वो मान गई।

अगले दिन जब वो आई तो बिल्कुल माल लग रही थी, उसने जींस और लेडिस शर्ट पहनी थी। उसकी चूची का आकार 32 होगा।

मन कर रहा था कि तुरंत ही चोद दूँ…

हम लोग भारद्वाज पार्क गए, वहाँ मैंने मौका देख कर उसे चूम लिया लेकिन मेरा मन तो उससे चोदने का था। थोड़ी देर बाद उसने मुझसे कहा कि उसे एक प्रोजेक्ट बनाना है। मेरी तो जैसे किस्मत ही खुल गई हो।

मैंने तुरंत कहा- मेरे कमरे पर चलो, वहीं मैं तुम्हारा प्रोजेक्ट बना दूँगा।

उसने कहा- ठीक है।

फिर हम लोग बाइक से कमरे पर गए। कमरे पर आने के बाद वो मेरा मोबाइल देखने लगी। मैंने एक किस्सिंग सीन स्क्रीन पर लगाया हुआ था।

उसने मुझसे कहा- यह क्या है अभी?

मैंने कहा- प्रक्टिकल करके बताऊँ? यह कहानी आप chudaai.xyz पर पढ़ रहे हैं।

तब वो हंसने लगी। मैं तुरंत उसे चूमने लगा और चुम्बन करते करते ही उसकी चूचियाँ दबाने लगा। अब वो भी मुझसे सहयोग करने लगी थी…..

मैंने चूमते चूमते ही उसकी शर्ट उतारी तो वो ब्रा और जींस थी। फिर मैंने उसकी ब्रा खींची तो उसका हुक टूट गया और ब्रा उतर गई। उसकी दोनों चूचियाँ मेरे हाथ में आ गई।

क्या गजब की चूची थी, 32″ की रही होंगी, एकदम गोरी-गोरी।

अब मैंने उसे अपने बिस्तर पर लिटाया और उसकी चूचियों को दबाने लगा और वो स्सस्स ह्ह्हस्स ह्ह्ह और र्रर्र बोलने लगी। फिर मैंने उसकी जींस को खोला, उसने गुलाबी रंग की पैंटी पहनी थी, उसकी पैंटी और जांघों को मैं देखता ही रह गया। साली बिल्कुल क़यामत लग रही थी।

तभी वो मुझे धक्का देकर मेरे ऊपर आ गई और मेरी शर्ट उतारने लगी। देखते ही देखते उसने मुझे मेरे सारे कपड़े उतार दिए। मेरा लंड देख कर उसने मुझसे कहा- इतना बड़ा लंड आज तक मैंने कभी नहीं देखा।

और वो मेरे लंड को खुद ब खुद चूसने लगी। मैं तुरंत समझ गया कि यह पहले चुद चुकी है।

लेकिन मुझे क्या फ़र्क पड़ता था।

जब वो मेरा लंड चूस रही थी तो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था क्यूंकि तब तक मेरा लंड किसी ने नहीं चूसा था।

यही करते करते वो 69 की अवस्था में आ गई। मैंने जब उसकी पैंटी उतारी तो देखता ही रह गया, उसकी बुर में पानी आ रहा था और बुर बिल्कुल साफ़ थी। मैंने बिना देर किये उसकी बुर में अपनी जीभ डाल दी।

वो स्स…हय….. की आवाजें निकाल रही थी। मैंने अब उसे अपने नीचे किया और उसकी बुर पर अपना लंड रखा, फिर उसकी चूची दबाने लगा।

उसने कहा- अभी, प्लीज अब मत तड़पाओ……

मैंने भी बिना देर किये जोर से धक्का दिया और आधे से ज्यादा लंड उसकी बुर में घुसेड़ दिया।

वो बहुत तेज चिल्लाई…..आ आआ आई ईईए….. मर जाऊँगी…. निकालो….!

मैंने उसके मुँह पर अपना हाथ रखा और फिर एक धक्का दिया…. और लंड जाकर बच्चेदानी में टकराया..

उसकी आँखों में आँसू थे, मैंने अपना हाथ उसके मुँह से हटाया…. अब उसे भी मजा आ रहा था…. मैंने भी अब अपनी स्पीड बढ़ा दी।

….अभी…….स्सस……आआ……….और तेज…..तुमने मुझे जन्नत में पहुँचा दिया…..मुझे भी बहुत मजा आ रहा था… पूरे कमरे में ऊउंह….आंह……घप…घप….ऊह….आन्ह्ह्ह्ह…की ही आवाजें गूँज रही थी !

चुदाई अपने चरम पर थी…

मैं झड़ने वाला था तो उससे पूछ्ने पर उसने कहा- अन्दर ही गिरा दो।

मैंने उसकी बुर में अपना सारा वीर्य गिया दिया…तब तक वो भी झर चुकी थी…

उस दिन हमने दो बार चुदाई की…और फिर जल्दी से कपड़े पहने, उसके बाद मैं उसे उसके घर के पास तक छोड़ कर आया।

उसके बाद वो अक्सर मुझसे चुदवाती रही…

आपको कहानी कैसे लगी दोस्तो, जरूर मेल करियेगा..

बाद में तनु भी मेरी जिंदगी में आई ! उसकी कहानी आपके जवाब मिलने के बाद…